Pages

Ads 468x60px

Sunday, February 26, 2012

आस्था !



मेरी आस्था " गाय '' में है, "गाय" कोई जानवर नहीं है , वो धर्म है , ये एक लाभदायक धर्म है इसके अंतर्गत निन्म गुण है ______
1- ये पुरुषवादी धर्म नहीं है ये नारीवादी धर्म है !
2- ये अकेला ऐसा धर्म है जो दूध देता है और इसके मूत्र -गोबर के इस्तेमाल से बाबा रामदेव जैसे राजनेता \ धर्मनिष्ट\व्यापारी \अर्धनारीश्वर पैदा होते हैं !
3-कुछ धर्म जो आवारा सडको पर फिरता है उसकी रक्षा के लिए आश्रम बनाये जाते हैं चंदा लिया जाता है जिससे कई प्रकार के वो पैदा होते हैं ,, वो आश्रम वालो को क्या बोलते हैं ?

अब इसकी कमजोरी _____
1- जो धर्म आवारा फिरता है वो अक्सर प्लास्टिक खाकर पेट कि बीमारियों से मर जाता है !
2- इस धर्म कि अक्सर सड़क दुर्घटनाओं में असमय मृत्यु या अपाहिज होने का खतरा बना रहता है !
3- इस धर्म को एक सम्प्रदाय विशेष के लोग चाव से खा जाते हैं !
:'( .....रोना भी आगया ...:'(

___________________________________________________________
इस धर्म का एक जंगली संस्करण भी होता है जो नीलगाय कहा जाता है वो अक्सर किसानो कि फसलों को बर्बाद कर देता है,,वो पीछे से गधे के जेसा और आगे से घोड़े के जैसा होता है ! वो धर्म का रंग नीला नहीं होता है ,, शेष फिर कभी .......................

नोट- इस धर्म में हमारी आस्था है कृपया हमारी आस्था को ठेस न लगाये !!!

_____________________ किरण श्रीवास्तव !!

6 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर की गई है। चर्चा में शामिल होकर इसमें शामिल पोस्ट पर नजर डालें और इस मंच को समृद्ध बनाएं.... आपकी एक टिप्पणी मंच में शामिल पोस्ट्स को आकर्षण प्रदान करेगी......

    ReplyDelete
  2. आस्था ही जीवन है....

    ReplyDelete
  3. मीतू... ये तुमने बड़ी असंतुलित पोस्ट लिखी... दोनों तरफ की बात ..या कुछ तोलल कर दोनों और का संतुलन रखा... शुभदिवस ..दीदी

    ReplyDelete
  4. bahut hi umda likh hai ,aap ki baat lekh ke maadhym se theek se pahuch gaee

    ReplyDelete
  5. bahut sundar vichar h apke
    thanks

    ReplyDelete
  6. धर्म नहीं माता कहा जाता है..गौ माता..अच्छा नहीं लगा आपका पोस्ट..धन्यवाद

    ReplyDelete

 

Sample text

Sample Text

Right Click Lock by Hindi Blog Tips

Sample Text

 
Blogger Templates